Uncategorized

DeFi क्रिप्टो ऋणों के बारे में सब कुछ जानने की जरूरत। एक व्यापक मार्गदर्शिका।

वैश्विक वित्तीय बाजार में cryptocurrency का उत्पादन और उपयोग गतिशीलता को नई गहराईयों तक पहुंचा रहा है। Decentralized Finance, जिसे संक्षेप में ‘DeFi’ भी कहा जाता है, एक पुरे नए प्रकार के वित्तीय समुदाय को संदर्भित करता है जिसमें बैंकों, ब्रोकरेज फर्मों, या तटस्थ प्राधिकरणों की आवश्यकता नहीं होती है। इससे लोगों को अपने पूंजी को सुरक्षित रखते हुए विभिन्न वित्तीय सेवाओं का लाभ मिलता है।

भुगतान कॉलेटरल, decentralized और tokenized करने की क्षमता के कारण, cryptocurrency को आपके पास होने पर आप DeFi प्रोटोकॉल्स के माध्यम से ऋण ले सकते हैं। यह crypto loan एक आकर्षक विकल्प बन गया है जिसे केवल बैंकों की आवश्यकता नहीं होती है।

एक crypto loan के माध्यम से आप क्रिप्टोकरेंसी को उपयोग करते हुए सीधे आप्तित कर सकते हैं, जिसे अपरिवर्तनीय या blockchain-based वित्तीय सेवाओं के रूप में जाना जाता है। आप अपनी cryptocurrency को उपयोग करते हुए ऋण ले सकते हैं और वापसी के समय अपनी cryptocurrency को रिपरील कर सकते हैं।

DeFi crypto loans की खासियत यह है कि ये ऋण बेहद ट्रांसपेरेंट और सुरक्षित होते हैं। इन लोन्स के लिए आपको ऐसे प्रोटोकॉल्स के अनुसरण करने की आवश्यकता होती है जो ऑटोमेटेड स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स के रूप में कार्य करते हैं और डीपॉजिट्स के और लोन वापसी के निर्धारित नियमों का पालन करते हैं। इसके अलावा, इन लोन्स में रेटर्न अच्छा होता है और कोई ट्रांसैक्शन फ़ीस नहीं होती है।

सब कुछ जानने के लिए डीफ़ाई क्रिप्टो ऋणों के बारे में

सब कुछ जानने के लिए डीफ़ाई क्रिप्टो ऋणों के बारे में

ब्लॉकचेन आधारित टोकनाइज़्ड वित्त (Blockchain-based tokenized finance) प्रयोग करके तथा डीसेंट्रलाइज़ क्रिप्टो (decentralized crypto) कोई ऋण व्यवस्था (lending) प्राप्त करने के तरीकों के बारे में आपकी सभी जानकारी यहां है।

क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency) एक डिजिटल प्रोटोकॉल (protocol) है और उसे दुनिया भर में व्यापार के लिए उपयोग किया जा सकता है। इस प्रोटोकॉल के तहत, ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी (blockchain technology) और क्रिप्टोग्राफी (cryptography) का उपयोग करके सुरक्षित लेन-देन और भुगतान की व्यवस्था होती है।

डेफ़ी या डीसेंट्रलाइज़ क्रिप्टो ऋण (DeFi or decentralized crypto loans) उपयोगकर्ताओं को पूरी दुनिया में उपलब्ध ऋण उद्योग (lending industry) की सुविधा प्रदान करता है। ये प्रणाली बैंकों की आवश्यकता को कम करके प्राइवेटी और खुदरा आपूर्ति के लिए अधिकारियों ने आसान वित्तीय सेवाएं प्रदान करने की स्वतंत्रता प्रदान की है।

  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण क्या है?
  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का उपयोग करके नकदी की एक प्रकार है जिसमें लोग अपनी क्रिप्टोकरेंसी उठा सकते हैं और उसे ब्याजदार रूप में लौटा सकते हैं। विभिन्न डीफ़ी प्लेटफ़ॉर्मों (DeFi platforms) द्वारा प्रदान की जाने वाली ऋण सेवाओं के माध्यम से, इस प्रकार के ऋण का उपयोग करके उपयोगकर्ताओं को उचित ब्याज दर पर ऋण प्राप्त करने की सुविधा मिलती है।

  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण के लाभ
  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण के कई लाभ हैं, इनमें से कुछ निम्न हैं:

    • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण वित्तीय स्वतंत्रता प्रदान करता है, जो लोगों को अपनी क्रिप्टोकरेंसी को अवांछित माध्यमों से उठाने और उसे सुरक्षित ढंग से उपयोग करने की अनुमति देता है।
    • ये ऋणकारकों को अधिक योग्य मूल्य (fair value) ब्याज दर पर बाजार के मानकों के निर्धारण (determination) मिलता है, जो उनकी वित्तीय स्थिति को सुधारने में सहायता करता है।
    • ये उपयोगकर्ताओं को प्रफर्मेंस यूनिट्स (performance units) या सालाना वार्षिक राशि (annual amount) के आधार पर उपयोगकर्ताओं को ब्याज के रूप में भुगतान प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करता है।
  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण प्रोसेस
  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण प्राप्त करने की प्रक्रिया में कुछ महत्वपूर्ण चरण हैं:

    1. उपयोगकर्ता प्लेटफ़ॉर्म पर पंजीकरण करता है और ये उपयोगकर्ता का खाता स्थापित करता है।
    2. उपयोगकर्ता अपनी क्रिप्टोकरेंसी को ब्लॉकचेन में जमा करता है जिसे वह बैंक खाते के रूप में प्रयुक्त कर सकता है।
    3. उपयोगकर्ता ऋणकारकों के लिए अपना प्रोफ़ाइल बनाता है और ऋणकारकों के द्वारा प्रदान की जाने वाली ब्याज दरों और अनुबंध (contract) की विवरण साझा करता है।
    4. उपयोगकर्ता को ऋण प्रदान करने के लिए अनुभवी उधारदाताओं द्वारा मंच पर संपर्क करना होता है।
    5. ऋण प्रदान करने के लिए उपयोगकर्ता ब्लॉकचेन में जमा की गई क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करता है।
    6. ऋण प्रदान करने के बाद, उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए अनुबंध के ब्याज दरों का भुगतान प्राप्त करता है।
    7. ब्याज दर के साथ, उपयोगकर्ता ऋणकर्ताओं को वापस करता है, जिसे वह ब्लॉकचेन में संपर्क करके प्राप्त कर सकता है।
  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण के जोखिम और सावधानियां
  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण के कुछ जोखिम और सावधानियां मौजूद हैं:

    • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण में उपयोगकर्ताओं की व्यक्तिगत जानकारी के साथ मुद्रा रिस्क (currency risk) हो सकता है।
    • ये प्लेटफ़ॉर्म क्षय के सब्जेक्ट (subject) हैं, जिसका मतलब है कि इनका सिक्योरिटी ध्यानपूर्वक जांची जानी चाहिए।
    • उचित ब्याज दरों की कोई गारंटी नहीं होती है, जिससे उपयोगकर्ताओं को अपने ऋण पर निवेश करने से पहले अच्छे से सोचना चाहिए।
  • डेफ़ी क्रिप्टो ऋण के उदाहरण
  • कुछ प्रमुख डेफ़ी क्रिप्टो ऋण प्लेटफ़ॉर्मों के उदाहरण निम्नलिखित हैं:

    • संयुक्त धन (Compound): संयुक्त धन समुदाय एक ओटोमेटेड मार्गदर्शक प्रोटोकॉल है जिसमें उपयोगकर्ताओं को अपनी क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करके ब्याज की वित्तीय सुविधा प्राप्त करने की सुविधा मिलती है।
    • एवे (Aave): एवे प्रयोक्ताओं को उचित ब्याज दर पर लेनदेन करने की सुविधा प्रदान करता है और उन्हें प्रणाली में जमा की गई क्रिप्टोकरेंसी पर ब्याज का भुगतान प्राप्त करने की अनुमति देता ह

      विस्तृत मार्गदर्शिका

      क्रेडिट और वित्तीय सेवाओं के लिए लोन इस आधुनिक युग में एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। बदलती इकोनोमी में, बैंकों के साथ पैसे केवल उधार के रूप में लेने के साथ-साथ, लोन करने के नए तरीके भी प्रदान कर रहे हैं। एक ऐसी तकनीकी प्रावधान के रूप में है डिफ़ाइ प्रणाली, वहा पर ब्लॉकचेन-आधारित क्रिप्टो संसाधनों के उपयोग से परंपरागत वित्तीय संस्थानों के मध्य प्रेस्ताव व्यवहार किए जा सकते हैं। यहाँ हम, टोकनाइज़ किए गए लोन से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में जानेंगे।

      1. डीईफ़ई (Decentralized Finance) के बारे में एक संक्षेप
      2. ब्लॉकचेन-आधारित लोन क्या है?
      3. लोन के मामले में खासताहतें
      4. संसाधनों को टोकनाइज़ करने का मतलब क्या है?
      5. ब्लॉकचेन-आधारित संसाधनों पर आधारित लोन कैसे काम करता है?
      6. ब्लॉकचेन-आधारित क्रिप्टोलोन के लाभ

      डीईफ़ई एक संग्रहलेख्यता वेतनों की साझा और वित्तीय सेवाओं के लिए निर्देशन लेने की प्रणाली है जो कि क्रिप्टोकरेंसी की मदद से ब्लॉकचेन प्लेटफ़ॉर्म पर कार्य करती है। यह प्रणाली पुरानी इकाईग्रहणवादी संस्थानों को प्रतिस्थापित करने का काम करती है और सामरिक, जटिलित, और मौजूदा प्रणालियों से दलीय वित्तीय सेवाओं के उपयोगकर्ताओं के बीच संपर्क को बढ़ाती है।

      लोन सबसे महत्वपूर्ण वित्तीय संस्थानों में से एक होती हैं और अद्यतित प्रणाली भी उन्हें प्रोत्साहित करती है। इसके जरिए उधार लेने कि प्राप्ति सबसे सस्ती व्यापारिक उपजीवन रणनीतियों में से एक हैं। लोन आपके व्यापार या व्यक्तिगत मूल्य की आवश्यकताओं को पूरा करने का तरीका हैं जबकि उसे प्रप्ति करने के लिए क्रिप्टोलोन एक अच्छा विकल्प हो सकता हैं।

      ब्लॉकचेन पर आधारित संसाधनों द्वारा उधार लेने का मतलब होता हैं कि आप अपने crypto चिजों को उपयोग नहीं करने के बदले उन्हें उपयोग करने के लिए अपने बचत खाते का उपयोग करते हैं। क्रिप्टोलोन को लेने के लिए, आपको एक डिपॉजिट रखना पड़ता है और उससे आपको रोजाना रुक्तिम राशि मिलती हैं। इसके अलावा, क्रिप्टोलोन के साथ आपको मुद्राओं को ईसाई करने की आज़ादी भी मिलती हैं और उन चीजों का सधारण उपयोग करते हुए जो संपर्क में नहीं होती हैं।

      ब्लॉकचेन आधारित क्रिप्टोलोन के लाभ: ब्लॉकचेन-आधारित क्रिप्टो ऋण के कई लाभ हैं। क्रिप्टोलोन लेने में सुरक्षा और गोपनीयता सर्वोपरि होती हैं और इसके साथ, प्रक्रिया भी तीव्र हो जाती हैं। क्रिप्टोलोन आपको न केवल आवश्यक डेटा और विवरणों की संरक्षा प्रदान करती हैं, बल्की यह आपकी पहचान और संदेशों को भी सुरक्षित बनाए रखती हैं।
      संपूर्ण टोकनाइज़ कैसे आकार लेता हैं? टोकनाइज़ेशन फ़ेज़ डिजीटल संपत्ति को वॉलट में थेरमोडाइनामिकली लिएर्युटेड टोकन्स में रूपांतरित करती हैं। प्रत्यक्ष एक्सेस, आरक्षण, और प्रमाणीकरण इनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रयोग की जा सकती हैं।

      यह बस कुछ मुद्दों को संबोधित करने के लिए एक संक्षेप हैं। ब्लॉकचेन-आधारित क्रिप्टोलोन्स और डीईफ़ई के साथ काम करने की अन्य महत्वपूर्ण बातें ईस विस्तृत मार्गदर्शिका में जानेंगे।

      डीईफ़ाई क्रिप्टो ऋणों के लाभ

      डीईफ़ाई (DeFi) वित्तीय प्रणाली क्यूँकि पारंपरिक बैंकिंग से अधिक लाभदायक है, ऐसा कहा जाता है। इसे अपेक्षित लाभ के लिए बनाया गया है जो लोगों को ऋण लेने और प्रदाय करने के लिए पाठें बनाता है।

      टोकनाइज़ प्रदान करने में आसानी: डीईफ़ाई प्रणाली द्वारा प्रदायित पैसा एक टोकन के रूप में प्रतिस्थित किया जाता है। यह टोकनों के आपूर्ति और मांग के साथ खेलता है, जो सुरक्षा और विश्वास का निर्माण करता है।

      लोन की प्राथमिकता: डीईफ़ाई लोन्स के लिए आवेदन करने का कोई बैंकी नियम नहीं होता है। यह किसी कारण से लोन लेने योग्य लोगों के लिए बड़ा लाभदायक हो सकता है, उन्हें न्यूनतम दस्तावेज़ सप्लाई करने की आवश्यकता होती है।

      सुरक्षा और गोपनीयता: डीईफ़ाई प्रणाली ब्लॉकचेन पर आधारित होती है, जिसमें सभी लेन-देन का रिकॉर्ड होता है। यह यानी की अपनी सूंघ की सुरक्षा और गोपनीयता प्रदान करता है।

      स्वतंत्रता: डीईफ़ाई प्रणाली में कोई मध्यस्थता नहीं होती है, और इससे उनका व्यापार सीधे लेन-देन प्रदानकर्ताओं के साथ होता है। यह उच्च स्वतंत्रता का एक मजबूत स्रोत प्रदान करता है।

      आग्रह: डीईफ़ाई प्रणाली में ऋण लेनेवालों को आपूर्ति की व्यवस्था, न्यायसंगतता की सुनिश्चितता, अधिक ऋण की संभावना और अधिक विकल्प सुरक्षित करने की सुविधा मिलती है।

      पेशेवर रोजगार का एक स्रोत: डीईफ़ाई प्रणाली नए रोजगार के लोकप्रिय स्रोत के रूप में उभरा है, जैसे कत्थाऽ वॉलेट विकासक, स्मार्ट कॉन्ट्रेक्ट विकासक, और दीप लर्निंग विशेषज्ञ।

      डीईफ़ाई क्रिप्टो ऋणों के लाभ पर्याप्त हैं जो इसको बड़ा लोकप्रिय करते हैं और इसे मुक्त और प्राथमिकता प्रदान करने वाला समुदाय बनाते हैं। यह ट्रांसफ़ॉर्म के तत्वों के रूप में परिभाषित हो सकता है – प्रविष्टि, अपेक्षा में सुधार, और निवास।

      डीफ़ाई क्रिप्टो ऋण के जोखिम

      डीफ़ाई क्रिप्टो ऋण के जोखिम

      डीफ़ाई क्रिप्टो ऋण लेने के साथ आए जोखिमों को निहित करता हैं। यह नये प्रौद्योगिकी की तरफ से निकाले जा रहें हैं, डिसेंट्रलाइज़ किए गये क्रिप्टोकरेंसी प्रोटोकॉल से प्रेरित हैं जैसे Compound, MakerDAO और Aave। निवेशकों को मुख्यतः इस नई इकोनॉमी में समायोजित करने के लिए उनके क्रिप्टो अधिसूची का उपयोग करने का मौका मिलता हैं।

      यहां डीफ़ाई क्रिप्टो ऋण के प्रमुख जोखिम हैं:

      • सुरक्षा जोखिम: डीफ़ाई लेंडिंग प्लेटफ़ॉर्म पर सुरक्षा जोखिम होता हैं क्योंकि यह क्रिप्टो असेट्स के साथ जुड़ी एक केंद्रीयकृत प्रक्रिया के बजाय डिसेंट्रलाइज़ड प्रोटोकॉल का उपयोग करता हैं। केंद्रीय प्लेटफ़ॉर्मों की तुलना में, डीफ़ाई पर सुरक्षा कम हो सकती हैं, क्योंकि समय-समय पर स्मार्ट कॉन्ट्रैक्टों में गड़बड़ी की संभावना हो सकती हैं।
      • वाल्यू जोखिम: डीफ़ाई पर्सनल लोन्स के माध्यम से क्रिप्टो असेट्स पर कोई वारंटी नहीं होती हैं। क्रिप्टो असेट्स की मूल्य समय-समय पर बदल सकती हैं और इस आपत्तिजनक बाजार में दुनियाभर के घटनाओं के कारण इनका तेजी से बदल सकती हैं जिससे निवेशक पूरी राशि खो सकते हैं।
      • गैर-संवेदनशीलता जोखिम: अन्य क्रिप्टो पर्सनल लोन्स की तरह, डीफ़ाई पर्सनल लोन्स में रुचि दर अनियमित हो सकती हैं। इसका मतलब हैं कि आपका ब्याज दर भुगतानों के माध्यम से बदल सकती हैं, इंटरेस्ट-रेट स्वॉप की संभावना होती हैं, और अन्य डीफ़ाई प्रोटोकॉल को फॉलो करने के अनुरोध की आवश्यकता हो सकती हैं।

      यह अवधारणाओं को ध्यान में रखकर, निवेशकों को सावधानी और पूरी सूचना के साथ डीफ़ाई क्रिप्टो ऋणों के प्रति रुचि लेनी चाहिए।

      ब्लॉकचेन-आधारित देफी क्रिप्टो ऋण में टोकनीकरण करना

      ब्लॉकचेन-आधारित देफी क्रिप्टो ऋण में टोकनीकरण करना

      देफी (DeFi) क्रिप्टो वित्त के क्षेत्र में टोकनीकरण उभरती तकनीक है जहां आप क्रिप्टोकरेंसी को ऋण के रूप में उपयोग करके अपने बैंक खाते पर इन्तेजाम कर सकते हैं। यह सुरक्षित है और पूंजीकरण की तुलना में कम समय लेती है।

      टोकनिकृत ऋण लगभग सभी ब्लॉकचेन आधारित देफी प्लेटफ़ॉर्म्स पर उपलब्ध हैं। ये प्लेटफ़ॉर्म्स आपको अपने क्रिप्टो निवेशों को तकनीकवारी द्वारा अज्ञात चरणों के साथ ऍसेस करने की सुविधा प्रदान करते हैं। यह आपके ग्राहकों को उत्पादकता बढ़ाने, अधिक शक्तिशाली मशीनों पर पूंजी उत्पन्न करने और अपने व्यवसाय को बढ़ाने की अनुमति देता है।

      टोकनीकृत ऋण लेनदेन के दौरान, क्रेडिटर समय सीमा और व्यापारिक शर्तों पर इस्तेमाल के लिए एक आवधिक योजना स्थापित करता है। यह प्रजाति खरीदारी और बिक्री पद्धति को सुनिश्चित करता है, जिससे सामान्य खरीदार पर आपत्ति नहीं होती है।

      ये देखभाल डिजिटल विभाग के दिशानिर्देश को हल करने वाली सेवा द्वारा पीढ़ीकृत धंधे का प्रतिष्ठान करते हैं। धन लेनदार खाते की पुष्टि करने के लिए थर्ड-पार्टी ऐप्स पर भरोसा कर सकते हैं और धन चमकने के लिए उन्हें अदान प्राप्ति कर सकते हैं।

      टोकनीकृत ऋण लेनदारों के बीच आमतौर पर एक “विश्वसनीय तृतीय-पक्ष प्रक्रिया” पर खर्च होती है, जो बंद लिया जाता है और जारी किया जाता है जब प्रत्यारोपित कर्मचारी या प्रमाणित संगठन आंशिक वा पूर्ण ईमानदारी करते हैं।

      टोकनिकृत ऋण लेनदार एकक और संघीय इतर संप्रदायों से आपूर्ति प्राप्त करते हैं जो सुरक्षित मान्यता और इमानदारी के मानकों के अनुसार रखी जाती हैं। ये धरती के अनुपालन करने, दस्तावेजीकरण के आवश्यकताओं को पूरा करने और एतिहासिक रिकॉर्ड को आत्मसात्‌ बनाने में सक्षम होते हैं।

      टोकनिकृत क्रिप्टो ऋण की प्रक्रिया उद्धरणों का सम्पहरण करती है, जिससे सत्ता और कारोबार को मंशूदा दायित्व से ऊपर लाए जा सकते हैं। यह उत्पादकता और अपरम्परागतता की वृद्धि को बढ़ाने की अनुमति देता है और साथ ही साथ सदस्यों को उधार उपयोग का लाभ ऊपर करने की अनुमति देता है।

      चित्र Credit:© Business vector created by freepik – www.freepik.com

      टोकनाइज़ करने का लेनदेन समझना

      डीफी क्रिप्टो लोन क्या है? डीफी या डीसेंट्रलाइज़्ड फाइनेंस (डीफी) एक ब्लॉकचेन-आधारित प्रणाली है जिसका मुख्य उद्देश्य वित्तीय संचय को विनियमित करना है। इसका सिर्फ एक ही उद्देश्य है- एक सेंट्रल अथवा विशेष अधिकार और निर्धारित प्राधिकार रखने वाली प्रणाली की मुक्तता सुनिश्चित करना। निगमों में बंद नियमों, वित्तीय ब्रोकरों या गुट्ठी द्वारा नियंत्रित विपत्ति करके, डीफी लोन एक उद्धततियों का नया स्रोत है।

      डीफी लोन के साथ आप आपके क्रिप्टो वित्तीय संपत्ति को उपयोग करके ऋण ले सकते हैं। पासवर्ड लॉक रखने के बजाय, क्रिप्टो लोनस को लीगलली बाइंडेड समझा जाता है। एक तत्काल आधार बनाने पर ध्यान केंद्रित करके, डीफी लोन्स आपके पंजीकृत वित्तीय संस्थान ब्रोकर के माध्यम से आपके पांव किसी भी समय आपके सभी क्रिप्टो सूचना की गंतव्यविधि कर सकते हैं। डीफी ऋणों में पैसे कमाने का एक बहुत अच्छा नया तरीका है।

      डीफी ऋण चलाने के लिए सबसे पहले आपको एक डिजिटल वॉलेट के माध्यम से स्वयंसेवा संबंधित टोकन जमा करना होता है। यह बहुत आसान है और उपयोगकर्ताओं को बहुत ही सुरक्षित ढंग से टोकन जमा करने देता है। ब्लॉकचेन पहली बार यह बताती है कि यह वास्तव में स्वामित्व का प्रमाणित साबित करता है।

      एक बार जब आपके वॉलेट में पर्याप्त टोकन हो जाते हैं, आप अपने कोई भी डीजीफाइएम कमजोर मेंलकर सकते हैं। आपकी ऋण की गणना स्वचालित रूप से की जाती है और वित्तीय संपत्ति का प्रारंभिक मूल्यांकन किया जाता है। एक विशेष कोटे के साथ रीड आउट हो सकता है, जहां आपको क्रिप्टो प्राप्त करने की सहमति देनी होगी। एक बार डिजीफाइएम डीसेंट्रलाइज्ड टोकनाइज़ सब्स्ट्रस्ट्रक्चर हुठ छता है, विपत्ति कुछ क्षण करने के लिए दस्तावेजों की आवश्यकता नहीं होती है।

      कुछ सामान्य डीफी लोन मार्केटप्लेस:
      नाम स्थापित
      एटीटी 2017
      मैक्‍शार 2017
      डाइमन्ड 2018
      पॉलीडेज 2019
      फ़ोरवी 2020

      टोकनाइज़्ड उधार देने के लाभ

      टोकनाइज़्ड उधार देने क्या होता है?

      टोकनाइज़्ड उधारदाताओं में प्रमुखताएं समाहित की जाती हैं। यह प्रौद्योगिकी क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन पर आधारित होती है और इसे संचालित और नियंत्रित करने के लिए डीसेंट्रलाइज़्ड फाइनेंस (डीफ़ाइ) प्रोटोकॉल पर निर्माण किया गया है।

      टोकनाइज़्ड उधार देने के लाभ

      1. डीफ़ाइ प्रोटोकॉल पर आधारित टोकनाइज़्ड उधार देने का यह एक महत्वपूर्ण लाभ है कि यह सुरक्षित है। इसमें उपयोग होने वाली सुरक्षा प्रतिबंधित, स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्सऔर प्रौद्योगिकी, हैकरों या नकली में दक्षता होने के कारण मुल्यांकन और प्रमाणन की सुरक्षा छात्रा करती है।
      2. क्रिप्टोकरेंसी द्वारा संचालित टोकनाइज़्ड उधारदाताओं के बारे में एक और लाभ है कि वे वास्तविक समय में प्राप्त किए जा सकते हैं। यह मध्‍यम आपको जब आपको आवश्यकता होती है, उधार लेने और चुकाने की आवश्यकता से बचाता है, यहां तक कि संकुचित मार्जिन कला के साथप्रबंधित प्रक्रिया है।
      3. डीफ़ाइ प्रोटोकॉल के अंतर्गत टोकनाइज़्ड उधारदाताओं की प्रोग्रामेबल स्वभाव के कारण उधारदाताओं को उच्च सामान्यिकी प्रदान करने के लिए आसानी से आयत्त किया जा सकता है। यह उधारकर्ता हीराफेरा को प्राप्त करने के लिए अनुबंध जोखिम व तत्परता को प्रदान करता है और अधिक गोपनीयता और नोनकंपनी वित्त प्रक्रियाओं को समर्थन करता है।
      4. टोकनाइज़्ड उधार देने में ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का उपयोग करने से, उधारदाताओं और उधारकर्ताओं के बीच सीधी संपर्क और विश्वसनीयता का उत्पादन होता है। इसका परिणामस्वरूप, ट्रस्ट की आवश्यकता नहीं होती है और हर एक को उधार देने के लिए स्थानीय मौजूदा नियमानुसार उत्पादों, पेपरवर्क या और कागज़ आदि की तरह जमा करने की जरूरत नहीं होती है।

      ये सभी तत्व टोकनाइज़्ड ऋणों को एक आकर्षक विकल्प बनाते हैं जो प्राकृतिक रूप से सुरक्षित, सुविधाजनक और डिस्ट्रीब्यूटेड होते हैं। इन लाभों के कारण, टोकनाइज़्ड उधार उचित वित्तीय विकल्प के रूप में मान्यता प्राप्त कर रहा है।

      टोकनाइज़ करने वाले उधार की भविष्य

      डीफी (DeFi) या डीसेंट्रलाइज़ फाइनेंस एक नई ब्लॉकचेन-आधारित वित्तीय प्रणाली है जो आवंटन के साथ वित्तीय सेवाओं के स्तर को बदल रही है। यह व्यापार और वित्तीय सेवाओं में पूर्णता और ईमानदारी को प्रोत्साहित करता है। वित्तीय वितरण कोसरने वाले संरचनाओं के क्रांतिकारी सदस्य होने के कारण, डीफी ने ओपन-सोर्स, मंच, और स्वतंत्र अनुप्रयोगों की शुरुआत की है।

      शारीरिक धारित करने के साथ, टोकनाइज़ करने वाले ऋण वायदे, जिनमें ब्लॉकचेन-आधारित और क्रिप्टोकरेंसी आवंटन शामिल होती है, डीफी के उर्जावान पहलुओं में से एक है। ये बदलाव ऋण और उधारनी क्षेत्र को सुनारी भविष्य की ओर ले जा सकते हैं।

      टोकनाइज़ करने वाले ऋणों के लाभ:

      • सुरक्षित लेनदेन: टोकनाइज़ करने वाले ऋणों में क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन नेटवर्क का उपयोग किया जाता है, जो सुरक्षित और अवैध प्रवेश के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है।
      • उद्यमियों के लिए अधिक संभावनाएं: टोकनाइज़ करने वाले ऋण नए उद्यमियों के लिए उच्च लाभांश, सराहनीय कारणों और पहलूओं का उदघाटन करते हैं जो पारंपरिक बैंक ऋणों से संभावनाएं छिन लेते हैं।
      • क्रिप्टो यात्रियों के लिए विकल्प: टोकनाइज़ करने वाले ऋणों में आपकी क्रिप्टोकरेंसी को जमा करने की आवश्यकता होती है, जिससे आप अपने हवाले किए गए प्रमाण पत्रों को बदल सकते हैं और आपके पास उपयुक्त यात्रा करने की आज़ादी होती है।

      टोकनाइज़ करने वाले ऋणों में चुनौतियाँ:

      • संबंधित नियमावली: उधारदाता और उधारग्रही में संतुलन बनाए रखने के लिए एकांतरित कर्ज एक प्रशंसानीय कारण है, लेकिन यह स्थानीय कानून की विवादों का कारण बन सकता है और समय के साथ बदल सकता है।
      • मूल्य वोलेटिलिटी: क्रिप्टोकरेंसी की अधिक तेजी से चलने वाली दुनिया के कारण, आपके ठोस मुद्रा मानदंडों की तुलना में वोलेटिलिटी अधिक हो सकती है।
      • गुमराही रिस्क: डीफी माध्यम से उधारग्रही के लिए संदर्भ युक्ति में गुमराही की संभावना बढ़ सकती है और आपको नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

      मिल-जुलकर, टोकनाइज़ करने वाले ऋण भविष्य में महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं क्योंकि इनकी खोज क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन-आधारित वित्तीय सेवाओं के लिए एक सामान्य हिस्सा बन रही है। ये ऋण संबद्धता, सुरक्षा, और उच्च संपत्ति उत्पादन के लिए एक उच्च आपूर्ति मानदंड प्रदान कर सकते हैं।

      ब्लॉकचेन-आधारित डिजिटल संपत्ति के लिए ब्लॉकचेन लोन समर्पित

      डिसेंट्रलाइज़्ड फ़ाइनेंस (DeFi) और क्रिप्टो संपत्ति बाजार में सबसे नवीनतम एवं अद्यतित समाधानों में से एक है – ब्लॉकचेन-आधारित लोन या उधारवाद। यह प्रणाली आपको पेशावर जमा पर आधारित उधार करने की अनुमति देती है, जिसमें आपकी डिजिटल संपत्ति को आधार बनाकर ऋण दिया जाता है। यह तकनीकी अद्यतन निम्नलिखित तत्वों पर आधारित होती है – डिसेंट्रलाइज़्ड, डिजिटल संपत्ति, क्रिप्टो संपत्ति, वित्त, उधार, लोन, और ब्लॉकचेन।

      • डिसेंट्रलाइज़्ड: ब्लॉकचेन-आधारित लोन प्रणाली डिसेंट्रलाइज़्ड होती है, जिसका मतलब है कि इसमें कोई केंद्रीय प्रशासन नहीं होता है। यह क्रिप्टोग्राफ़िक सुरक्षा और स्मार्ट कन्ट्रैक्ट्स के माध्यम से कार्य करती है, जिससे यह सुरक्षित और निष्पक्ष होती है।
      • डिजिटल संपत्ति: ब्लॉकचेन-आधारित लोन प्रणाली केवल डिजिटल संपत्ति के आधार पर कार्य करती है। इसमें क्रिप्टोकरेंसी, टोकन और अन्य डिजिटल विनिमययों को आप जमा करके ऋण ले सकते हैं।
      • क्रिप्टो संपत्ति: ब्लॉकचेन-आधारित लोन आपको लोन का आधार बनाकर आपकी क्रिप्टो संपत्ति का उपयोग करने की अनुमति देती है। आप अपनी क्रिप्टो संपत्ति को जमा करके उधार ले सकते हैं और वापसी के लिए ब्लॉकचेन लोन प्लेटफ़ॉर्म को इसे जमा रखने की ज़रूरत होती है।
      • वित्त: वित्त संपत्ति की प्रकृति में संशोधन करने के लिए ब्लॉकचेन लोन सुविधा प्राप्त होती है। इस प्रणाली के माध्यम से ऋण लेने वाले क्रेता और उधार देने वाले ऋणदाता के बीच एक सीधी समझौता स्थापित किया जाता है।
      • उधार: उधारवाद ब्रॉकर माध्यम से ऋण ले लेने के प्रमुख तरीकों में से एक है। इसमें क्रेता एक निर्दिष्ट समय अवधि के लिए पेशावर जमा करता है, और उधार देने वाला उसे ब्याज और सुलभता के साथ उधार देता है।
      • लोन: ब्लॉकचेन-आधारित लोन प्रणाली उधारवाद की सुविधाओं को संशोधित करती है। यह आपकी क्रिप्टो संपत्ति के आधार पर लोन प्रदान करती है, जिसे आप एक निर्दिष्ट समय अवधि के लिए उधार ले सकते हैं और बाद में बयाज और प्रमुख के साथ वापसी कर सकते हैं।
      • ब्लॉकचेन: ब्लॉकचेन एक प्रकार की जर्नल होती है, जिसमें विभिन्न वित्तीय या अन्य सूचनाओं को सुरक्षित और इम्यूटेबल ढंग से संग्रहीत किया जाता है। ब्लॉकचेन-आधारित लोन प्रणाली ब्लॉकचेन के उपयोग के माध्यम से संचालित होती है, जिससे इसकी गोपनीयता और सुरक्षा सुनिश्चित की जाती है।

      इस तरह से, ब्लॉकचेन-आधारित लोन प्रणाली नई और सुरक्षित वित्तीय सेवाएं प्रदान करती है, जो अनुभवी वित्तीय संस्थानों के साथ तुलना में तेज़, सुलभ और सरल है। इसके अलावा, यह उधार देने और ऋण लेने में आसानी प्रदान करता है और खाता सुनिश्चित करता है कि विवादों की संभावना कम होती है।

      ब्लॉकचेन पर आधारित उधार देने की खोज

      ब्लॉकचेन पर आधारित उधार देने की खोज

      डीफाइ (DeFi) क्रिप्टो उधारणा दुनिया भर में धूम मचा रही है। यह एक डीसेंट्रलाइज़्ड फाइनेंस (Decentralized Finance) प्रणाली है जो टोकनों कीकरन वाली क्रिप्टोकरेंसी (Tokenized Cryptocurrency) पर आधारित है। यह नया मॉडल उदाहरण द्वारा कम कर रहा है और उपभोक्ताओं को पाठपूर्णता और रख -जगीर के माध्यम से उनके डिजिटल धन का प्राबंधन करने की सुविधा प्रदान कर रहा है।

      यह क्रिप्टो उधार के बारे में प्यारा सा विचार है, लेकिन इसके पीछे का तंत्र जटिल है। ब्लॉकचेन पर आधारित उधारणा एक सस्ता और गोलबंद तरीका वर्तमान बैंक प्रणाली के माध्यम से उधार लेनदेन को दिग्गजों के के बीच मोटी पहुंच दे रहा है। ऐसे प्रणालीों का इस्तेमाल उधारदाताओं को उधारनेवालों के कारण मध्यस्थ कर रहा है, जिससे संकटकारी बैंक हुआ करता था।

      परंतु वित्तीय संकट और पूंजी संकुचन में बदलाव के चलते, यह तंत्र मान्यता प्राप्त कर रहा है। आधुनीकीकरण की वजह से इसे ब्लॉकचेन पर आधारित उधारणा के रूप में फूलान देखा जा सकता है।

      ब्लॉकचेन पर आधारित उधारणा क्यों महत्वपूर्ण है? आधुनीकीकरण के अलावा, उधारणा ऐसा भी कहलाता है, और क्योंकि इसमें वित्तीय विषयों के लिए आपूर्ति या बैंकों बिना आपूर्ति नियन्त्रित करने का प्रयास शामिल होता है। क्रिप्टो उधारणा ब्लॉकचेन पर आधारित होती है और यह वित्तीय नियन्त्रित इकाईयों की खोज के लिए भी एक विकल्प प्रदान करता है। इसके अतिरिक्त, इस प्रणाली से आप आपकी उधारणा प्रणाली पर नियंत्रण बनाए रखते हैं और गोलबंद तरीके से अपनी उधारणा केपेसिटी को वृद्धि प्रदान करने में मदद करने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

      ब्लॉकचेन पर आधारित उधारणा एक उगाहीं व्यवसाय है और इसमें सभी नए प्रोजेक्टों को नए स्रोतों की दूरगामी पहुंच प्रदान करने के लिए शामिल किया गया है। इसमें फंडिंग, ट्रांजैक्शन और नागरिकों के बीच समझौतों का अच्छा संचार होता है। इसके साथ ही, इसमें सक्रिय रूप से उधारदाता और उधारवाले के बिना वित्तीय इच्छाओं की पूर्ति को संभव बनाने के लिए नई तकनीक शामिल होती है।

      यह व्यवसायिक संगठनों और व्यापारी लोगों को उनकी स्थानीय मुद्रा के अतिरिक्त और बीते समय के बिना वित्तीय संपदा को प्रवाहित करने की सुविधा प्रदान करता है। यह एक ब्लॉकचेन पर आधारित उधारणा से सरलिता के साथ कार्य करने वाली प्रणाली है जो आधुनिक वित्तीय मानवों की चरणों को ध्वस्त कर रही है।

      1. किराए पर उधार देना: आप अपने क्रिप्टो अस्तित्व को उधार देकर प्राप्त करके अपने संपत्ति का लाभ उठा सकते हैं। दूसरे शब्दों में, आप दूसरे लोगों को अपने अस्तित्व केपेसिटी का उपयोग करके उधार दे सकते हैं, जिससे आपका संपत्ति आयातन बचाए रखा जा सकता है।
      2. साइड पूलिंग उधार : आप समूहीन उधार के लिए प्रतिष्ठित धन प्रणाली का उपयोग करके वित्तीय सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।
      3. इंटरेस्ट कमा : आप आपकी क्रिप्टो धन बचाने के साथ-साथ उसे एकत्रित करके हासिल किए गए ब्लॉकचेन पर बचे हुए उधार क्रेंदियों पर अधिक ब्याज कमा सकते हैं।

      इन तरीकों का उपयोग कर पूंजी और मुद्रा का प्रबंधन करने के लिए ब्लॉकचेन पर आधारित उधारणा लोगों को नई संभावनाएं प्रदान कर रहा है। विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों को प्रभावित करने के लिए, यह प्रदान कर रहा है एक प्रभावी व्यवस्था और संपत्ति के वितरण को मंत्रीत कर रहा है।

      ध्यान दें: ब्लॉकचेन पर आधारित उधारणा के कई कारण हैंऔर यह विचारशील, लालची या अव्यवस्थिततंत्रसे ढका जा सकता है। यदि आप इस क्षेत्र में सफल होने की खोज में हैं, तो आपको निवेश करना होगा, आवश्यक ज्ञान प्राप्त करना होगा और आपको उचित मानव संसाधनों का प्रयोग करना होगा।

      ब्लॉकचेन पर आधारित उधार देने के लाभ

      ब्लॉकचेन पर आधारित उधार देने के लाभ

      • क्रिप्टोकरेंसी और टोकनाइज्ड एसेट के उपयोग से ब्लॉकचेन पर आधारित उधार संक्रमित और सुरक्षित होता है।
      • डिसेंट्रलाइज्ड सिस्टम के द्वारा आपको कनेक्शन प्रदान करता है, जिसके कारण आप बैंकों के बैचते हुए नियमों या मध्यस्थता का उपयोग करके ग्राहकों को सीधे उधार दे सकते हैं।
      • क्रिप्टो और डीफाइ क्रिप्टोकरेंसी के लेन-देन क्रियाओं को आसान और तेज़ करता है।
      • ब्लॉकचेन पर आधारित ऋण की विशेषता यह है कि यह बिना किसी मध्यस्थताओं के ग्राहकों को उधार दे सकती है। इसका मतलब यह है कि बैंकों और वित्तीय संस्थाओं की कोई आवश्यकता नहीं होती है, जो न तो दर निर्धारित करती है और न ही आपके उधार को अनुमोदित करती है।
      • ब्लॉकचेन पर आधारित उधार देना अधिक सुरक्षित होता है क्योंकि यह द्वितीय पक्ष को सीधे क्रिप्टोकरेंसी या टोकन के रूप में सुरक्षा जमा करने की अनुमति नहीं देता है। इसके बजाय, उधारदाता को सीधे उधार ग्राहक के साथ दस्तावेज़ीकरण करने की अनुमति दे देता है।

      ब्लॉकचेन पर आधारित उधार देने के प्रमुख लाभों में से एक है कि यह सुरक्षित और विश्वसनीय प्रक्रिया है, जिसे डिसेंट्रलाइज्ड और स्वतंत्र तत्वों के साथ समर्थित किया जाता है। इसके अलावा, लेन-देन कार्यवाही तेज़, विश्वसनीय और बेहतरीन है, जिससे क्रिप्टो लेन-देन जगत में उधार देने की प्रेरणा मिलती है।

      ब्लॉकचेन आधारित उधारी पर नियामकीय चुनौतियाँ

      ब्लॉकचेन आधारित उधारी पर नियामकीय चुनौतियाँ

      ब्लॉकचेन और डिज़ेनट्रलाइज्ड फाइनेंस (DeFi) के संयोजन से एक नया उधारी प्रणाली का जन्म हुआ है, जिसमें टोकनाइज़ड एसेट्स को दर्ज करके क्रिप्टोकरेंसी को उधार दिया जा सकता है। यह प्रक्रिया कारोबार और व्यापार में नए संकलनों को संभव बना सकती है, लेकिन इसके साथ-साथ नियामकीय चुनौतियों का सामना भी करना पड़ता है।

      यहां ब्लॉकचेन आधारित उधारी पर नियामकीय चुनौतियों की एक सूची है:

      1. कानूनी प्रशासन: सरकार और नियामक संगठनों को ब्लॉकचेन आधारित उधारी के लिए विशेष नियम और कानूनों को तैयार करने की आवश्यकता होती है। वे उधारीदाताओं और उधारकों की सुरक्षा, निफ़्टीज़ेशन, न्यायिक चर्चा और अन्य मुद्दों को संबंधित कर्मचारियों के माध्यम से सुनिश्चित करने के लिए जब्ती निर्देश जारी कर सकते हैं।
      2. आंतरदेशीय पारितोषिकी: ब्लॉकचेन उधारी संबंधी सलाहकारों, ग्राहकों और आंतरराष्ट्रीय उधारक के बीच में आंतरदेशीय पारितोषिकी का निर्धारण करना मुश्किल हो सकता है। कुछ देशों के पास ऐसे कानून हो सकते हैं जो विदेशी उधारकों को बाधित करते हैं या उन्हें पूरे कारोबार में शामिल होने से रोकते हैं।
      3. वित्तीय विनिमय: ब्लॉकचेन आधारित उधारी में वित्तीय विनिमय परियोजनाएं बनाना मुश्किल हो सकता है। उधारदाता और उधारक द्वारा निर्दिष्ट मूल्य, ब्याज और अन्य आवश्यक मापदंडों को पूरा करने की जरूरत होती है। विनिमय की प्रक्रिया को सक्रिय रखने के लिए आवश्यक और विश्वसनीय वित्तीय संस्थाओं द्वारा स्थापित मानदंडों की संख्या को लागू करना अधिक मुश्किल होता है।
      4. धोखाधड़ी और हवालाती संगठन: ब्लॉकचेन आधारित उधारी में कम निगरानी पर कई धोखाधड़ी के खतरे हो सकते हैं। गुमराह या विश्वासघाती जोखिम द्वारा उधारीदाताओं को चंदा अर्जित करने की मुद्रा को खोने का खतरा हो सकता है। इसके साथ ही, संगठनों की इच्छाधारी प्रणाली उधारीदाताओं को उधारक के रूप में चुनने वाले व्यक्तियों को रिस्क से खिलवाड़ कर सकती है।

      ब्लॉकचेन और डिज़ेन्ट्रलाइज्ड फाइनेंस (DeFi) स्थापित करने वाले व्यक्तियों को इन नियामकीय चुनौतियों को समझने, समाधान करने और विकसित करने की आवश्यकता होती है, ताकि यह नई प्रणाली वास्तविक और सुरक्षित उधारीदाताओं और उधारकों के लिए उपयुक्त हो सके।

      डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस क्रिप्टोकरेंसी लोन

      डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस क्रिप्टोकरेंसी लोन

      डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस (DeFi) एक नवीनतम और विश्वसनीय तकनीक है जो ब्लॉकचेन पर आधारित है। यह जनतंत्र, पूंजीवाद और औद्योगिकरण के नए माध्यमों को प्रोत्साहित करने के लिए डिजाइन किया गया है। इसमें एक मुख्य समारोह शामिल है, जिसे क्रिप्टोकरेंसी लोन या डिसेंट्रलाइज्ड वित्त कहा जाता है।

      क्रिप्टोकरेंसी लोन क्या होता है? क्रिप्टोकरेंसी लोन एक ऐसा वित्तीय उपाय है जिसमें क्रिप्टोग्राफी मुद्राओं का उपयोग किया जाता है जो एक डिसेंट्रलाइज्ड ब्लॉकचेन पर आधारित होती है। यह एक तकनीक है जिसका उपयोग आपको पैसे उधार लेने की अनुमति देता है, और उसे प्रतिपूर्ति के लिए गिरवी रखने की जरूरत नहीं होती है।

      डिसेंट्रलाइज्ड क्रिप्टोलेंडिंग (Decentralized Crypto Lending) एक वहन पुंजी के तरीके की प्रतिष्ठा करता है जिसमें विभिन्न क्रिप्टोकरेंसी मुद्राओं को ऋण देने और ऋण लेने के लिए अद्यतित नेटवर्क के अड्डे का उत्सर्जन करता है।

      डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस के माध्यम से क्रिप्टोकरेंसी ऋण कैसे काम करता है? डिसेंट्रलाइज्ड लोन व्यवस्था एक प्रोटोकॉल के रूप में कार्य करती है, जो ब्लॉकचेन पर निर्मित है। यह प्रोटोकॉल क्रिप्टो एसेट जमा करने और उधार देने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रेक्ट का उपयोग करता है। उदाहरण के लिए, एक व्यक्ति अपने बिटकॉइन माध्यम से ऋण ले सकता है जो एक इथेरियम प्रोटोकॉल के द्वारा रखा जाता है।

      डिसेंट्रलाइज्ड वित्त के फायदे क्या हैं? डिसेंट्रलाइज्ड वित्त के कई फायदे हैं, जिनमें निम्नलिखित शामिल हैं:

      • सुरक्षा: डिसेंट्रलाइज्ड वित्त पर मौजूद ब्लॉकचेन क्रिप्टोग्राफी को प्रमाणित करने का उपयोग करता है, जो सुरक्षित और अवैध गतिविधियों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है।
      • निरापद संदर्भ: डिसेंट्रलाइज्ड वित्त उपयोगकर्ताओं को अपनी प्रजाति द्वारा निर्धारित किए गए सामान्य प्रचलित धाराओं के अंतर्गत लोन प्रदान करने की अनुमति देता है।
      • गुँजाइश: डिसेंट्रलाइज्ड वित्त प्रदाताओं को बाजार गुणवत्ता और प्रीमियम प्रदान करने द्वारा स्थानीय और विदेशी ऋण उपयोगकर्ताओं के प्रवेश को प्रोत्साहित करने की अनुमति देता है।

      डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस वित्तीय प्रणाली क्यों महत्वपूर्ण है? डिसेंट्रलाइज्ड वित्त क्रिप्टोकरेंसी ऋण की एक नई प्रकृति है जो ठेकेदारी और क्लियरिंग हाउसों के बाहर मान्यता प्राप्त करने के लिए संयुक्त रूप से छोड़ता है। यह वित्तीय उपाय सामान्य मामलों, पुराने और आनुवंशिक धाराओं को बदल सकता है और उच्च संरचनागत तथा क्रियाशील उपाय प्रदान करता है।

      डिसेंट्रेलाइज़ड फाइनेंस के औद्योगिक कर्ज़ कैसे काम करते हैं

      डिसेंट्रेलाइज़ड फाइनेंस (DeFi) वित्तीय प्रणाली के माध्यम से कर्ज़ लेने का नया विकल्प है। कर्ज़ उठाने की पारंपरिक तकनीकों के साथ तुलना में, यह सिस्टम टोकनिकृत (टोकनों में बदला जा सकने वाला) ऋण प्रदान करता है। इसका मतलब यह है कि आप अपने कार्यालय में रखे हुए कंप्यूटर और संग्रहीत ग्राहक डेटा को ग बीकेप (जो टोकनियस हो सकती हैं) के रूप में सौंपते हैं और इसके परिणामस्वरूप एक डीएपी से ऐडवांस आपूर्ति प्राप्त करते हैं।

      यह डिसेंट्रेलाइज़ड ऋण मॉडल ऐतिहासिक तरीकों से अलग है जहां बैंकों और वित्तीय संस्थानों की आवश्यकता होती है। इससे, ऋण लेने वाले योग्यता की पुष्टि करने के लिए बैंक या ब्रोकर से संपर्क करने की जरूरत नहीं होती है।

      इस प्रक्रिया के लिए धंधेफहरी/इन्टरफेस / एफएआई नेटवर्केस का इस्तेमाल किया जाता है। इन नेटवर्कों के उपयोग करके यह संभव होता है कि एक अद्यतित लेनदेन को निगरानी किया जाए और ट्रांसक्शन की प्रतिलिपि का निर्माण किया जाए जिसे डीएपे सूचित की जाएगी।

      एक डीएपी एक स्मार्ट कॉन्ट्रेक्ट की जगह होता है, जो वह सभी अद्यतन करने के लिए लेनदाता के संपर्क में कार्य करता है। यह स्मार्ट कॉन्ट्रेक्ट एक लोगों की तरह कर्ज़संबंधी संपत्ति को भीड़ते है और मेंबरों को एकत्रित करता है, जिनका इस्तेमाल करके ट्रांसैक्शन का प्रमाणित होने का समय कम होता है।

      • डीएपी पाठप्रदर्शक । समय के साथ सभी लेनदाताओं के बाजार मूल्यों की जानकारी लेंगे
      • औपचारिक और गैर-औपचारिक कर्ज़-लेनदेन। औद्योगिक लोकप्रियता एवं अपने वित्तीय प्रणालीक वजह से सौन्दर्य श्रोत से साझा और स्मार्ट संबंधों औऱ्से बाजार में छोड़देते हैं

      बौअर धार,लेन-देन प्रणाली की बात कर रहा हैं जहां एक संपत्ति का निर्माण एक संक्रमित कर्ज़ का परिणाम होता हैं । इसे सुरक्षित स्थान की आवश्यकता होती है और ऐफआई भुगतान की अनुमति के साथ समय के साथ परिभाषित किया जाता है।

      फिर पूर्ण अद्यतन मापदंड का पहला पहलू सम्पूर्ण अद्यतन आवश्यकता के पूर्ण करने के लिए एक बनाया होता हैं। यह एक समय सीमा की मांग कर सकता है और बाजार मूल्य एकरोपण कर सकता हैं।

      डीएपी प्रवाह। जहाँ बसर्ते ग्राहकों की संख्या को तदनुपाती किया जा सकता है और संकल्प ट्रांसक्शन को दूसरे डीएपी पाठप्रदर्शको में आपूर्ति को अवशोषण कर के।

      अन्य बाहरी जोखिमों की तुलना में, एक डीएपी द्वारा प्रदान की गई ऋणों में हावी होने की संभावना कम होती है, क्योंकि जोड़ चालकों के पास बहुत कम धूप के बासी में हैं, और इस प्रकार, ऋण कर्ज़ लेने वाले द्वारा लिए गए दुनियाभर के किसी भी मुद्रा से संबंधित धोखाधड़ी संक्रीयटी को कम करता है।

      वेतन अंश बाह्य जोखिम डीएपी लोकप्रियता
      15% 85% कमी

      इस प्रकार, डिसेंट्रेलाइज़ड फाइनेंस ऋण संबंधित पदार्थों की जानकारी लेने के लिए एक नवीन सम्राट कर्ज संरचना की पुष्टि करती है और यह उपयोग करके सभी प्रकार के कारोबारिक मूल्याङ्कनों और निधियान्त्रणों को छोड़ती हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

DeFi क्रिप्टो ऋण क्या है?

DeFi क्रिप्टो ऋण स्वयंसेवक क्रिप्टो उधारणा प्रणाली होता है जिसमें उपयोगकर्ताओं को उपयोगकर्ताओं के बीच सीधे उधार लेने और देने की सुविधा प्रदान की जाती है। यह मध्यस्थता के बिना कार्य करता है और पारंपरिक बैंकों के लोन कार्यक्रमों की तुलना में एक सरल और सुरक्षित विकल्प हो सकता है।

DeFi क्रिप्टो ऋण कैसे काम करता है?

इस प्रक्रिया में, उधारदाता (अथवा पिक्कलेंडर) अपनी क्रिप्टो करंसी को किसी स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट में जमा करता है, जहां उहानदाता (अथवा टेकन धारक) उधार लेते वक्त सुरक्षा जमानत के रूप में अपनी क्रिप्टो करंसी रखता है। इसके बाद, पिक्कलेंडर समय सीमा के भीतर ऋण लौटाने के लिए रुचि देता है और अपने टोकन वापस प्राप्त करता है।

वीडियो:

START HERE TO MASTER DEFI!

The Ultimate Crypto DeFi Course for Beginners!!

Crypto Lending 2023 – THE DEFINITIVE GUIDE by CoinMarketCap

53 posts

About author
सोनिया मिश्रा एक मान्यता प्राप्त लेखिका है जिनकी कवितायें और कहानियाँ अनेक भाषाओं में प्रकाशित हुई हैं। उनकी कविताएं उधतांग, संवेधनशीलता और आधुनिक विषयों पर आधारित होती हैं। उनकी अद्वितीय तार बूटियाँ, रोमांचकारी कथाएँ और विचारशील अभिव्यक्ति अपने पाठकों को प्रभावित करती हैं।
Articles

27 Comments

प्रातिक्रिया दे